वकील पति ने कोर्ट में बतौर गुजारा भत्ता 25 हजार रु. के सिक्के दिए, रोते हुए पत्नी बोली- ये तो प्रताड़ना हैसिक्कों की संख्या को देखते हुए कोर्ट ने मामले की सुनवाई 27 तारीख तक टाल दी

चंडीगढ़. यहां डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में मंगलवार को पति और पत्नी के बीच गुजारा भत्ता को लेकर विवाद हो गया। दरअसल, तलाक के मामले में सुनवाई के लिए हाजिर हुए एक व्यक्ति ने कोर्ट में अपनी पत्नी को 24,600 रुपए का गुजारा भत्ता दिया, लेकिन पूरी रकम 1 और 2 रुपए के सिक्कों में थी। इस पर पत्नी ने कोर्ट से कहा कि उसका पति सिर्फ उसे प्रताड़ित करने के लिए ऐसा कर रहा है। कोर्ट ने भी सिक्कों की गिनती में समय लग जाने से केस की सुनवाई 27 जुलाई तक टाल दी। पत्नी को सिक्कों में भत्ता देने वाला व्यक्ति पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में वकील है। उसने कहा कि पहले भी वो पत्नी को गुजारा भत्ता देता रहा है। पति के वकील ने कहा कि उसके मुवक्किल के पास नोट नहीं थे, उसे सिर्फ सिक्के ही मिल पाए जो कि उसे एक सेवा संस्थान में काम करने के बाद मिले थे। वकील ने कहा कि गुजारा भत्ता किस रूप में दिया जाएगा, इसका कोई प्रावधान नहीं है। इसी के साथ उसने अपने एक जूनियर की मदद से सिक्कों से भरा बोरा कोर्ट रूम के अंदर पहुंचा दिया। दोनों ने 2015 में तलाक के लिए आवेदन दिया था। कोर्ट ने युवक को आदेश दिया था कि वो हर महीने पत्नी को 25 हजार रुपए गुजारा भत्ता देगा। इसके बावजूद उसने पत्नी को दो महीने तक भत्ता नहीं दिया था, जिसके बाद महिला ने कोर्ट में इसकी शिकायत की थी।

खोजक: तलाक के लिए आवेदन, गुजारा भत्ता

संबंधित लेख